कथा

कालजयी : गैंग्रीन : अज्ञेय

अज्ञेय  सम्पूर्ण रचनाकार थे.  कवि, उपन्यासकार, कहानीकार, संपादक, पत्रकार, गद्य लेखक आदि , अपनी बहुज्ञता और विविधता में जयशंकर प्रसाद की याद दिलाते हुए.  उनकी एक प्रसिद्ध कहानी है गैंग्रीन...

उपन्यास-अंश: कफ़स: तरुण भटनागर

उपन्यास-अंश: कफ़स: तरुण भटनागर

 कथाकार तरुण भटनागर के शीघ्र प्रकाश्य उपन्यास ‘कफ़स’ में एक चरित्र है- अदीब. जब वह पैदा हुआ तब उसके शरीर में औरत और आदमी दोनों के जननांग थे. उसके पिता...

चोर – सिपाही : मो. आरिफ

युवा कथा आलोचक राकेश बिहारी के स्तम्भ ‘भूमंडलोत्तर कहानी विमर्श’ के अंतर्गत आपने-   1.              ‘लापता नत्थू उर्फ दुनिया न माने’ (रवि बुले)2.            ‘शिफ्ट+ कंट्रोल+आल्ट = डिलीट’...

कफन रिमिक्स : पंकज मित्र

कथा-सम्राट प्रेमचंद की कालजयी कहानी ‘कफन’ उनकी अंतिम कहानी भी है. यह मूल रूप में उर्दू में लिखी गयी थी. ‘जामिया मिल्लिया इस्लामिया’की पत्रिका ‘जामिया’के दिसम्बर, १९३५ के अंक में...

मन्नत टेलर्स : प्रज्ञा

प्रज्ञासाहित्य का मूल कार्य यह है कि वह तमाम अच्छे–बुरे बदलावों के बीच और उनके तीक्ष्ण–तिक्त प्रभावों के मध्य आम आदमी के पास  आता-जाता रहता है. उन्हें देखता, परखता, महसूस...

जस्ट डांस : कैलाश वानखेड़े

हंस के संपादक और कथाकार  राजेन्द्र यादव की स्मृति में उनके जन्म दिन (२८ अगस्त) के अवसर पर \"राजेन्द्र यादव हंस कथा-सम्मान\" हर वर्ष हंस में ही प्रकाशित कहानियों में...

अधजली : सिनीवाली शर्मा

कृति : Louise Bourgeois :Arch of Hysteria भूमंडलोत्तर कहानी  विवेचना क्रम में आपने अब तक निम्न कहानियों पर युवा आलोचक राकेश बिहारी की विवेचना पढ़ी- लापता नत्थू उर्फ दुनिया न माने (रवि बुले),...

थर्टी मिनिट्स : विवेक मिश्र

थर्टी मिनिट्स : विवेक मिश्र

पेशे से चिकित्सक विवेक मिश्र हिंदी के चर्चित कथाकार हैं. उनकी कहानी ‘थर्टी मिनिट्स’ को आधार बनाकर  येसुदास बीसी ने ‘30 MINUTES’ फ़िल्म का निर्माण किया है जो अब सिनेमाघरों...

कालजयी (४) : गदल (रांगेय राघव)

पेंटिग : लाल रत्नाकररांगेय राघव_______________तिरुमलै नम्बाकम वीर राघवाचार्य  उर्फ रांगेय राघव (१७ जनवरी, १९२३ - १२ सितंबर, १९६२) का रचनासंसार इतना विस्तृत और  बहुविषयक है कि भारतेंदु की रचनाशीलता की याद आती...

प्रथम पुरुष : तरुण भटनागर

कृति : Ladoo Bai कलाओं का विकास मनुष्य की स्वाधीनता के चेतना से जुड़ा हुआ है, बाद में सत्ताओं के सेंसरशिप के बावजूद कला अपनी यह ज़िम्मेदारी उठाती रही है. आप कल्पना कीजिये...

Page 9 of 12 1 8 9 10 12

फ़ेसबुक पर जुड़ें

पठनीय पुस्तक/ पत्रिका

इस सप्ताह