lekhak: रविन्द्र त्रिपाठी

कृष्णा सोबती: ‘पहले दिल-ए-गुदाख़्ता पैदा करे कोई’: रवीन्द्र त्रिपाठी

कृष्णा सोबती: ‘पहले दिल-ए-गुदाख़्ता पैदा करे कोई’: रवीन्द्र त्रिपाठी

2017 के लिए साहित्य का प्रतिष्ठाप्राप्त सम्मान ‘ज्ञानपीठ’ हिंदी की महत्वपूर्ण लेखिका कृष्णा सोबती को  कल प्रदान किया गया जिसे ...