कथा

टर्मिनल-1: राहुल श्रीवास्तव

टर्मिनल-1: राहुल श्रीवास्तव

राहुल श्रीवास्तव तिग्मांशु धूलिया की कई फिल्मों के संपादक रहे हैं, सैकड़ों की संख्या में विज्ञापन फिल्में (कमर्शियल) बना चुके हैं. पिछले दिनों उनके द्वारा निर्देशित लघु फिल्म ‘इतवार’ चर्चा...

निम्फोमैनियाक: एक बयान: कबीर संजय

निम्फोमैनियाक: एक बयान: कबीर संजय

कबीर संजय ने कथाकार के रूप में इधर अपनी पहचान बनाई है, उनकी लम्बी कहानी ‘निम्फोमैनियाक: एक बयान’ इसे और पुख़्ता करती है. यह कहानी अंत तक आते-आते निम्फोमैनियाक की...

दवातदार ताजुल मलिक और इल्तुतमिश का आख़िरी फ़रमान: तरुण भटनागर

दवातदार ताजुल मलिक और इल्तुतमिश का आख़िरी फ़रमान: तरुण भटनागर

कथाकार तरुण भटनागर इतिहास में गहन रुचि रखते हैं, इधर वह मध्यकालीन गुलाम वंश पर आधारित अपने महत्वाकांक्षी उपन्यास ‘शिकारगाह’ पर कार्य कर रहें हैं. इतिहास को आख्यान बनाने की...

आउशवित्ज़ एक प्रेमकथा: गरिमा श्रीवास्तव

आउशवित्ज़ एक प्रेमकथा: गरिमा श्रीवास्तव

राजनीति जब नफ़रत में सन जाती है तब हिटलर पैदा होता है, आउशवित्ज़ घटित होते हैं जहाँ मनुष्यता अपने निम्न स्तर पर गिर जाती है. गरिमा श्रीवास्तव गम्भीर अध्येता हैं,...

भँवर: नवनीत नीरव

भँवर: नवनीत नीरव

2021 में प्रकाशित अपने पहले कहानी संग्रह ‘दुखान्तिका’ से चर्चा में आये नवनीत नीरव शिल्प की सुगढ़ता के लिए प्रशंसित हैं. प्रस्तुत कहानी ‘भँवर’ भी कसी हुई है और अंत...

जाली किताब: कृष्ण कल्पित

जाली किताब: कृष्ण कल्पित

कृष्ण कल्पित इतिवृत्त को अपनी कविताओं में समकालीन अर्थ देते रहें हैं. इधर उपन्यास की ओर मुड़े हैं. ‘जाली किताब’ उनका आने वाला ‘प्रयोगात्मक’ उपन्यास है. किताबों में किरदार होते...

स्फटिक: कुमार अम्बुज

स्फटिक: कुमार अम्बुज

स्फटिक’ कुमार अम्बुज की कहानी है. जब आप किसी कथा को पढ़ते हैं तो उससे आप क्या उम्मीद रखते हैं? उसका यथार्थ आपको वशीभूत कर ले, जिस आवेग को कथाकार...

जयप्रभुदेव: किंशुक गुप्ता

जयप्रभुदेव: किंशुक गुप्ता

किंशुक गुप्ता चिकित्सक हैं. हिंदी और अंग्रेजी में लिखते हैं. उनकी कहानियां इधर हिंदी की प्रतिष्ठित पत्रिकाओं में प्रकाशित होकर चर्चा में रहीं हैं. उनकी नयी कहानी ‘जयप्रभुदेव’ बाबाओं द्वारा...

अन्विति: राजेन्द्र दानी

अन्विति: राजेन्द्र दानी

कथाकार राजेन्द्र दानी के दस कहानी संग्रह प्रकाशित हुए हैं, वर्षों से वह हिंदी की महत्वपूर्ण पत्रिका ‘पहल’ से जुड़े रहे. उनकी प्रस्तुत नयी कहानी ‘अन्विति’ स्मृति और अकेलेपन के...

हठात् वृष्टि: अम्बर पाण्डेय

हठात् वृष्टि: अम्बर पाण्डेय

‘हठात् वृष्टि’ समालोचन पर अम्बर पाण्डेय की दसवीं कहानी है, केवल इन्हीं कहानियों के संकलन से उनका पहला कहानी-संग्रह तैयार हो सकता है. अम्बर पाण्डेय ने जहाँ हिंदी कहानी को...

Page 1 of 14 1 2 14

फ़ेसबुक पर जुड़ें

पठनीय पुस्तक/ पत्रिका

इस सप्ताह