फिल्म

अपराह्न पाँच बजे: कुमार अम्‍बुज

अपराह्न पाँच बजे: कुमार अम्‍बुज

‘विश्व सिनेमा से कुमार अम्बुज’ श्रृंखला कालजयी फ़िल्मों को समझने और अपने समय को बूझने की गहरी अंतर्दृष्टि देती है, भाषा की अपनी संभव ऊंचाई के साथ. यह फ़िल्म की...

अनिर्णय की त्रासदी: कुमार अम्बुज

अनिर्णय की त्रासदी: कुमार अम्बुज

शेक्सपियर ने 1600 ईसवी के आप-पास नाटक ‘हैमलेट’ की रचना की थी. कई देशों में इसपर आधारित और इससे प्रभावित अनगिनत फ़िल्में बन चुकी हैं. लॉरेन्स ओलिविएर द्वारा निर्देशित फ़िल्म...

वर्चस्व और अमीरी की रुग्णता का संधिवात:  कुमार अम्‍बुज

वर्चस्व और अमीरी की रुग्णता का संधिवात: कुमार अम्‍बुज

महत्वपूर्ण चेक लेखक बोहुमिल ह्राबाल के उपन्यास पर आधारित फ़िल्म ‘I Served the King of England’ (2006) आपने शायद देखी हो. ‘विश्व सिनेमा से कुमार अम्बुज’ की यह कड़ी इसी...

भूलन कांदा : मुद्रित से सेल्युलाइड तक  की यात्रा: रमेश अनुपम

भूलन कांदा : मुद्रित से सेल्युलाइड तक की यात्रा: रमेश अनुपम

'भूलन कांदा’ वनौषधि है, माना जाता है कि इसका स्पर्श मनुष्य को उसके रास्ते से भटका देती है. संजीव बख्शी का यह उपन्यास २०१० में प्रकाशित हुआ था. इस पर...

प्रेम का विष: कुमार अम्बुज

प्रेम का विष: कुमार अम्बुज

‘कोई दम कल आए थे मज्लिस में 'मीर' /बहुत इस ग़ज़ल पर रुलाया हमें.’ विश्व के महानतम फ़िल्म निर्देशकों में फ़्राँस्वा त्रुफ़ो का नाम लिया जाता है और उनकी फ़िल्म...

युद्धजन्‍य प्रतीक्षा की अंतहीन कथा: कुमार अम्‍बुज

युद्धजन्‍य प्रतीक्षा की अंतहीन कथा: कुमार अम्‍बुज

किसी भी पत्रिका के जीवन में ऐसे अवसर आते हैं जब वह कुछ ऐसा प्रकाशित करती है जिसके लिए उसे हमेशा याद रखा जाता है. समालोचन को साहित्य-इतिहास में कुमार...

तुम्हें याद है सिर्फ ख़ून का स्वाद: कुमार अम्‍बुज

तुम्हें याद है सिर्फ ख़ून का स्वाद: कुमार अम्‍बुज

अंग्रेजी के महानतम कवि-नाटककार शेक्सपीयर की कालजयी कृति ‘मैकबेथ’ में हमेशा से विश्व सिनेमा की रुचि रही है. पिछले वर्ष अमरीकी निर्देशक जोएल कोएन की फ़िल्म ‘द ट्रैजेडी ऑफ़ मैकबेथ’...

विष्णु खरे: सिनेमा का खरा व्याख्याता:  सुदीप सोहनी

विष्णु खरे: सिनेमा का खरा व्याख्याता: सुदीप सोहनी

कवि, आलोचक, फ़िल्म मीमांसक, अनुवादक, पत्रकार विष्णु खरे (9 फरवरी 1940–19 सितम्बर 2018) की स्मृति में युवा लेखक प्रचण्ड प्रवीर और कुछ मित्रों ने यह सोचा कि उनकी याद में...

Page 1 of 8 1 2 8

फ़ेसबुक पर जुड़ें

पठनीय पुस्तक/ पत्रिका

इस सप्ताह