कविता

रुस्तम की बीस नयी कविताएँ

रुस्तम की बीस नयी कविताएँ

शब्द की साधना में ऐसी अवस्था आती है जब शब्द पिघलने लगते हैं, अर्थ उनका अभीष्ट नहीं रह जाता, वे कुछ और ही आकार ले लेते हैं, ऐसे अनुभव जो...

राकेश मिश्र की कविताएँ

राकेश मिश्र की कविताएँ

राकेश मिश्र का चौथा कविता संग्रह- ‘शब्दों का देश’ राधाकृष्ण से २०२१ में प्रकाशित हुआ है, कवि की विकास यात्रा देखी जा सकती है. शब्दों को लेकर वे और मितव्ययी...

स्वप्निल श्रीवास्तव की कविताएँ

स्वप्निल श्रीवास्तव की कविताएँ

हिंदी कविता कबीर की तरह खुली आंखों से सबकुछ देखती रहती है, उसे ऐश्वर्य की नींद नहीं चाहिए, वह बेचैन है और उसका अधिकांश वेदना की अभिव्यक्ति है. वरिष्ठ कवि...

सुरेन्द्र प्रजापति की कविताएँ

सुरेन्द्र प्रजापति की कविताएँ

समालोचन पर नये वर्ष की शुरुआत कविताओं से करते हुए प्रस्तुत हैं- सुरेन्द्र प्रजापति. सुरेन्द्र प्रजापति गया जिले के ‘असनी’ गाँव से हैं और मैट्रिक तक इन्होंने पढ़ाई की है....

शिरीष कुमार मौर्य की कविताएँ: पुराकथाएँ

शिरीष कुमार मौर्य की कविताएँ: पुराकथाएँ

शिरीष कुमार मौर्य की कविताएँ पढ़ते हुए सृजनात्मकता के विविध रंग और रूप कुछ इस तरह से उद्घाटित होते हैं कि भावक डूब सा जाता है. काव्यत्व जिसे बरसों-बरस कविता...

सुमीता ओझा की कुछ कविताएँ

सुमीता ओझा की कुछ कविताएँ

भाषा की दुनिया अपार अनंत है, नाना तरह की चीजें उसमें घटित होती रहती हैं. साहित्य तो उसका एक हिस्सा है. इस हिस्से में भी सब कहाँ प्रत्यक्ष हो पाता...

ममता बारहठ की कविताएँ

ममता बारहठ की कविताएँ

किसी भी पत्रिका के लिए किसी युवा को प्रस्तुत करना ख़ास ख़ुशी का अवसर होता है. सहृदय समाज के समक्ष राजस्थान की युवा कवयित्री ममता बारहठ की इन कविताओं को...

प्रियंका दुबे की कविताएँ

प्रियंका दुबे की कविताएँ

‘प्रेम जितना करुणामय रहा/प्रेमी उतना ही निर्मम’. ‘नो नेशन फ़ॉर वुमन’ की लेखिका और बीबीसी की पत्रकार प्रियंका दुबे की रचनात्मकता के कई आयाम हैं, उनका गद्य पिछले दिनों आपने...

पूनम वासम की कविताएँ

पूनम वासम की कविताएँ

पूनम वासम की कविताएँ निर्मला पुतुल की परम्परा का विकास लगती हैं. आदिम संस्कृति की सहज मार्मिकता, छले जाने का बोध, प्रतिकार का साहस और मिथकों की स्मृति से भरी...

रोहिणी अग्रवाल की कविताएँ

रोहिणी अग्रवाल की कविताएँ

रोहिणी अग्रवाल आलोचक हैं, कथा-आलोचना में महत्वपूर्ण स्थान रखती हैं. कहानियों के दो संग्रह भी प्रकाशित हैं. प्रस्तुत कविताओं में उनकी स्त्री-दृष्टि सक्रिय है. ये कविताएँ विवशता, विकलता और असंतोष...

Page 1 of 27 1 2 27

फ़ेसबुक पर जुड़ें

पठनीय पुस्तक/ पत्रिका

इस सप्ताह