शिल्प

इज़ाबेल:  मुझे अपने स्त्री होने से प्यार है: रवीन्द्र व्यास

इज़ाबेल: मुझे अपने स्त्री होने से प्यार है: रवीन्द्र व्यास

इज़ाबेल आलबुकर्क की ‘Orgy For Ten People In One Body’, मूर्ति शिल्प की चर्चित अंतरराष्ट्रीय प्रस्तुति है. इस प्रदर्शनी और प्रत्येक शिल्प पर जिस गहराई से यहाँ बात की गयी...

गांधी और अनिता दुबे की प्रस्तरकला

गांधी और अनिता दुबे की प्रस्तरकला

पत्थर, बजरी, तीलियाँ और धागे आदि को मिलाकर कविता जैसी कोई कृति भी क्या बन सकती है. भोपाल में कुछ दिन पहले अनिता दुबे की महात्मा गांधी पर केन्द्रित प्रस्तरकला...

कला की जगहें : सीरज सक्सेना

कलाकार, कवि, गद्यकार सीरज सक्सेना (३० जनवरी १९७४, मध्य-प्रदेश) सिरेमिक, वस्त्र, पेंटिंग, लकड़ी और ग्राफिक कला जैसे विभिन्न माध्यमों में २२ वर्षों से सक्रिय हैं. उन्होंने इंदौर स्कूल ऑफ आर्ट्स...

फ़ेसबुक पर जुड़ें

पठनीय पुस्तक/ पत्रिका

इस सप्ताह