lekhak: राहुल राजेश

राहुल राजेश की कविताएँ

‘अब मैं इतना दरिद्र हुआकि मुझ पर अब किसी केप्रेम का कर्ज़ भी नहीं.’ कवि राहुल राजेश आज उस मोड़ पर ...

राहुल राजेश की कविताएँ

पहली कविता बहेलिये की तरफ से नहीं पक्षी की तरफ से चीख़ बनकर उठी थी हालाँकि बहेलिये का भी कोई ...

राहुल राजेश की कविताएँ

किसी एक विषय या भाव या विचार को लेकर कविता श्रृंखला लिखने का रिवाज  है. अभी प्रेमशंकर शुक्ल की भीमबैठका पर ...

राहुल राजेश की कविताएँ

राहुल राजेश 9 दिसंबर, 1976 दुमका, झारखंड (अगोइयाबांध)युवा कवि और अंग्रेजी-हिंदी के परस्पर अनुवादकयात्रा-वृतांत, संस्मरण, कथा-रिपोतार्ज, समीक्षा एवं आलोचनात्मक निबंध ...