आलोचना

रामविलास शर्मा का कवि-कर्म: रवि रंजन

रामविलास शर्मा का कवि-कर्म: रवि रंजन

रामविलास शर्मा बड़े आलोचक हैं, १९४३ तक वह एक उदीयमान कवि भी थे. सच्चिदानंद हीरानंद वात्स्यायन ‘अज्ञेय’ ने ‘तार सप्तक’ में उन्हें इसीलिए शामिल भी किया था. हालाँकि रामविलास शर्मा...

कविता क्या है : अच्युतानंद मिश्र

अच्युतानंद मिश्र कवि हैं और सैद्धांतिक आलोचना के क्षेत्र में भी सक्रिय हैं. आधार प्रकाशन से उनकी किताब ‘बाज़ार के अरण्य में’ इस वर्ष प्रकाशित हुई है. कविता क्या है ?...

दलित कविता : बजरंग बिहारी तिवारी

By The News Minuteआधुनिक दलित साहित्य की पहली दस्तक कविता के माध्यम से सुनी गयी, १९१४ में ‘सरस्वती’ में हीरा डोम  की कविता ‘अछूत की शिकायत’ प्रकाशित हुई थी. तब...

दलित कविता और जय प्रकाश लीलवान : बजरंग बिहारी तिवारी

मलखान सिंह, ओमप्रकाश वाल्मीकि और जय प्रकाश लीलवान समकालीन हिंदी दलित कविता के महत्वपूर्ण कवि हैं. जय प्रकाश लीलवान के ‘अब हमें ही चलना है’ (2002), ‘नए क्षितिजों की ओर’(2009),...

हजारीप्रसाद द्विवेदी : शिरीष कुमार मौर्य

हजारीप्रसाद द्विवेदी : शिरीष कुमार मौर्य

यह महीना हजारीप्रसाद द्विवेदी का है. ११० वर्ष पहले इसी महीने के १९ वीं तारीख को बलिया जिले के ‘दुबे का छपरा’ गाँव में आपका जन्म हुआ था. आचार्य द्विवेदी...

सबद भेद : मुक्तिबोध : सिद्धान्त मोहन

गजानन माधव मुक्तिबोध जितने महत्वपूर्ण कवि हैं उतने ही बड़े आलोचक भी. अपने समय की यातना और आतंक को जैसा मुक्तिबोध ने पढ़ा है वैसा अब तक किसी लेखक ने...

सन्  का विद्रोह: सुराज के लिए संघर्ष : मैनेजर पाण्डेय

सन् का विद्रोह: सुराज के लिए संघर्ष : मैनेजर पाण्डेय

भारत और इंग्लैण्ड के तथाकथित ‘साझे रिश्ते’ (जिसे अक्सर राजनेता ब्रिटेन के सरकारी दौरों पर दुहराते रहते हैं) बराबरी और परस्पर सम्मान के नहीं थे. और ये अगर ‘रिश्ते’ थे...

सबद भेद : कवि विजय कुमार : अच्युतानंद मिश्र

कवि आलोचक विजय कुमार के तीन कविता संग्रह अदृश्य हो जाएँगी सुखी पत्तियां, चाहे जिस शक्ल से और रातपालीप्रकाशित हैं. आलोचना के क्षेत्र में भी उनका गम्भीर कार्य है.  उनके कवि...

Page 6 of 8 1 5 6 7 8

फ़ेसबुक पर जुड़ें

पठनीय पुस्तक/ पत्रिका

इस सप्ताह