आलोचना

कुँवर नारायण की कविता: शिरीष कुमार मौर्य

कुँवर नारायण की कविता: शिरीष कुमार मौर्य

मुक्तिबोध ने कुँवर नारायण को ‘कविता में अंतरात्मा की पीड़ित विवेक चेतना और जीवन की आलोचना’ का कवि कहा है. खुद कुँवर नारायण यह मानते हैं कि ‘कविता मूलत: एक...

रामविलास शर्मा और हिंदी नवजागरण: मैनेजर पाण्डेय

रामविलास शर्मा और हिंदी नवजागरण: मैनेजर पाण्डेय

रामविलास शर्मा की हिंदी नवजागरण  की विचारधारा पिछले कई दशकों से अकादमिक दुनिया में व्याख्या और आलोचना के केन्द्र में रही है. हिंदी नवजागरण के अस्तित्व और उसके प्रभाव पर...

शमशेर प्रेम की असंभावना के कवि अधिक हैं : अशोक वाजपेयी

ll शमशेर :: जन्म शताब्दी वर्ष llपिछले पांच दशकों से साहित्य और संस्कृति के क्षेत्र में सक्रिय कवि, आलोचक, संपादक,और आयोजक अशोक वाजपेयी के कई कविता-संग्रह और आलोचना–पुस्तकें प्रकाशित हैं....

मार्कण्डेय : कहानी और राष्ट्र की परछाइयाँ

मार्कण्डेय : कहानी और राष्ट्र की परछाइयाँ

कहानी और राष्ट्र की परछाइयाँ अरुण देव 2010 में पीपुल्स पब्लिशिंग हॉउस (प्रा.) लि. ने श्रेष्ठ साहित्य प्रकाशन योजना के अंतर्गत छह संकलनों में आजादी के बाद की हिंदी की...

Page 6 of 6 1 5 6

फ़ेसबुक पर जुड़ें

पठनीय पुस्तक/ पत्रिका

इस सप्ताह