समीक्षा

उम्मीद की गौरैया: वागीश शुक्ल

उम्मीद की गौरैया: वागीश शुक्ल

वागीश शुक्ल कृति के साथ-साथ विचार और साहित्य का अंतरतर भी खोल देते हैं. भाषा की बाड़ टूट जाती है. सब एक दूसरे के और निकट पहुंच जाते हैं. आस्तीक...

आग के पास आलिस है यह: गोपाल माथुर

आग के पास आलिस है यह: गोपाल माथुर

2023 के साहित्य के नोबेल पुरस्कार से सम्मानित यून फुस्से के उपन्यास ‘Aliss at the Fire’ का हिंदी अनुवाद ‘आग के पास आलिस है यह’ शीर्षक से वाणी से प्रकाशित...

कबीर ग्रन्थावली का परिमार्जित पाठ: दलपत सिंह राजपुरोहित

कबीर ग्रन्थावली का परिमार्जित पाठ: दलपत सिंह राजपुरोहित

श्यामसुन्दर दास द्वारा संपादित और नागरी प्रचारिणी सभा द्वारा 1928 में प्रकाशित ‘कबीर ग्रन्थावली’ का परिमार्जित पाठ विख्यात आलोचक-लेखक पुरुषोत्तम अग्रवाल ने तैयार किया है और इसकी एक सुगठित और...

मोर्चे पर विदागीत: सन्तोष अर्श

मोर्चे पर विदागीत: सन्तोष अर्श

‘चाय पर शत्रु-सैनिक’ कविता के लिए विहाग वैभव को 2018 का भारतभूषण अग्रवाल पुरस्कार मिल चुका है. चयनकर्ता थे वरिष्ठ कवि अरुण कमल. इसी सितम्बर (2023) में पटना में वरिष्ठ...

इंडियंस: एक सभ्यता की यात्रा : रवींद्र त्रिपाठी

इंडियंस: एक सभ्यता की यात्रा : रवींद्र त्रिपाठी

कथाकार व यात्रा-लेखक अनिल यादव द्वारा हिंदी में अनूदित ‘इंडियंस’ नमित अरोरा का चर्चित यात्रा-वृत्तांत है जिसे ‘एक सभ्यता की यात्रा’ कहा गया है और जो पेंग्विन स्वदेश से छपा...

अवसाद का आनंद: बोधिसत्व

अवसाद का आनंद: बोधिसत्व

जयशंकर प्रसाद हिंदी साहित्य के लिए जितना कर सकते थे अधिकतम किया. कविता, कहानी, उपन्यास, और नाटक के क्षेत्रों में उनका काम कालजयी है. ऐसे केन्द्रीय व्यक्तित्व पर हिंदी में...

Page 2 of 19 1 2 3 19

फ़ेसबुक पर जुड़ें

ADVERTISEMENT